Total Pageviews

Wednesday, August 22, 2012

मौसम के अनुसार क़्या खायें

किस मौसम में क्या खाये  तथा क्या दैनिक कार्य करें इस बात की जानकारी पारम्परिक रूप से बुज़ुर्गों ने संग्रहित की है जो अनुभव आधारित है और समय की कसौटी पर कसी हुई है.प्रस्तुत है आपके लिए-
चैते चना वैशाखे बेल, जेठे शयन, अषाढ़े खेल
सावन हर्रे, भादों तिक्त, क्वार मास, गुड़ सेवे नित.
कर्तिक करेला, अगहन तेल , पूसे करे दूध से मेल.
माघ मास घिय-खिच्चड़ खाय, फागुन उठिनित प्रातः नहाय.
इन बारह सों करे मिताई, तो काहे घर वैद्य बुलाई. 


अवतार मेहेर बाबा की जय 

No comments:

Post a Comment